समाचार एंव आयोजन
»  English
»   साफ्ट्वेयर
 »  पूछताछ फार्म
 »  ई-पत्रिका

»हेल्प लाइन नंबर
टोल फ्री : 1800-180-6763

निधियों का आबंटन

क)  मानदंड

प्रत्येक वर्ष के आरंभ में एनएसटीएफडीसी द्वारा राज्य चेनेलाईजिगं एजेंसियों को संबंधित राज्यों और संघ राज्य क्षेत्रों में अनुसूचित जनजाति आबादी के अनुपात में निधियाँ कल्पित रूप से आबंटित की जाती हैं । राज्य चेनेलाईजिगं एजेंसियों को इसकी सूचना दी जाती है । राज्य चेनेलाईजिगं एजेंसियाँ इस तरीके से निधियों के प्रवाह को सुनिश्चित करें कि उससे विभिन्न जिलों/क्षेत्रों सेक्टरों में उचित संतुलन और लाभार्थियों में उचित लिंगवार संतुलन बनाए रखा जा सके ।

ख)  काई लागत

समग्र आबंटन के अंतर्गत निम्नलिखित मुवय मानदंडों को पयान में रखते हुए निधियाँ आबंटित की जानी हैं :

आबंटन की प्रतिशता

1)  प्रति इकाई/लाभ केन्द्र 5.00 लाख रुपए तक की

      लागत वाली योजना(योजनाएं)/परियोजना(परियोजनाएं) :  90%

2)  प्रति इकाई/लाभ केन्द्र 5.00 लाख रुपए से ओंधक

      लागत वाली योजना(योजनाएं)/परियोजना(परियोजनाएं) :  10%

तथापि उपर्युक्त निर्धारित आबंटन के 10% का उपयोग कम लागत वाली परियोजनाओं के लिए भी किया जा सकता है ।

 

ग)  नोशनल�क्षेत्रीय आबंटन

क्षेत्रीय आबंटन के लिए मुवय मानदंड नीचे दिए गए हैं । ये मानदंड संकेतक हैं लेकिन राज्य चेनेलाईजिगं एजेंसियों से अपेक्षा की जाती है कि वे एनएसटीएफडीसी के विचारार्थ योजना(योजनाओं)/परियोजना(परियोजनाओं) को भेजते समय क्षेत्रीय आबंटन के संबंध में संतुलित दृष्टिकोण सुनिश्चित करें :

क्षेत्र आबंटन की प्रतिशतता

1)   कृषि एवं सम्बद्ध क्षेत्र  40%

2)   सेवा क्षेत्र  50%

3)   औद्योगिक क्षेत्र 10%

 

By: PWT& FD